पैसा बोलता है

www.vicharmimansa.com देश को अपने पैर पर खड़ा कर विकसित करने एवं अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सार्वजनिक प्रतिष्ठान के तहत खड़े किये गये बड़े बड़े उद्योग सफेद हाथी बन आज पूर्णरुपेण विफल हो रहे है । योजनाओं पर अनावश्यक रुप से काफी पैसा का खर्च भार... [पूरी पोस्ट]
writer NEWS SOURCE
views
15
upvote
1
downvote
0
rating
1
comments
2
[25 May 2010 02:43 AM]

Free Vedic Astrology From Astrobix