दो बूंद तेल

निशांत का हिंदीज़ेन ब्लॉग एक व्यापारी ने अपने पुत्र को प्रसन्नता का रहस्य जानने के लिए एक बुद्धिमान वृद्ध के पास भेजा. चालीस दिन और चालीस रातों तक रेगिस्तान में चलता हुआ वह युवक अंततः एक पर्वत के शिखर पर बने हुए सुन्दर किले के पास पहुँच गया. वह बुद्दिमान वृद्ध वहीं रहता था. उस... [पूरी पोस्ट]
writer Nishant

खुशीअन्य कथाएँ

views
23
upvote
4
downvote
0
rating
4
comments
4
[10 May 2010 21:15 PM]

Free Vedic Astrology From Astrobix