मैं और क्या करुं निरुपमा?

युवा दखल निरुपमा केवल उस लड़की का नाम नहीं रहा अब जो एक पत्रकार थी, जिसके लिये उसका परिवार बेहद प्रिय था, जो प्रेम करती थी…जिसे प्रेम करने की सज़ा मिली…अब यह नाम उन तमाम लड़कियों का है जो इस ग़लतफ़हमी का शिक़ार हो जाती हैं कि प्रेम दुनिया की सबसे ख़ूबसूरत चीज़ है... [पूरी पोस्ट]
writer अशोक कुमार पाण्डेय

निरुपमा

views
30
upvote
3
downvote
0
rating
3
comments
12
[06 May 2010 11:17 AM]