चलत की बेरिया

aradhana-आराधना का ब्लॉग हमारा देश दार्शनिकों का देश है, दर्शन का देश है. दर्शन यहाँ के जनमानस के अन्तर्मन में समाया हुआ है, जनजीवन में प्रतिबिम्बित होता है. कुछ लोग कर्मवादी हैं, तो कुछ लोग भाग्यवादी. पर समन्वय इतना कि कर्मवादी लोग भी भाग्य पर विश्वास करते हैं…और... [पूरी पोस्ट]
writer aradhana

यादेंखेतबातेंखलिहान

views
40
upvote
5
downvote
0
rating
5
comments
10
[15 Apr 2010 20:55 PM]