कुछ नज्में......डायरी से !

nazariya एक अरसे बाद कल अपनी डायरी लेकर बैठ गया..........ऐसा लगा कि जैसे पुराने कुछ फूल फिर से नए रंगों में खिल गए...........चंद नज्में जो कुछेक बरस पहले लिखी थीं ........फिर से रोशन सी हो गयीं........जी चाहा कि इन कुछ नज्मों को क्यों न आप सबके हवाले कर दूं... [पूरी पोस्ट]
writer singhsdm
views
12
upvote
0
downvote
0
rating
0
comments
11
[15 Mar 2010 04:15 AM]

Free Vedic Astrology From Astrobix